Saturday, July 13, 2024
spot_img
HomePrayagraj"नई रोशनी" (ई.डब्ल्यू.एस.) का 57वां पाक्षिक कार्यक्रम संपन्न

“नई रोशनी” (ई.डब्ल्यू.एस.) का 57वां पाक्षिक कार्यक्रम संपन्न

प्रयागराज l रानी रेवती देवी सरस्वती विद्या निकेतन इंटर कॉलेज, राजापुर प्रयागराज के प्रांगण में गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाली एवं झुग्गी झोपड़ियों में रहने वाली बालिकाओं को स्वावलंबी बनाने एवं अपनी भारतीय संस्कृति से जोड़ने हेतु लगभग 3 वर्षों से चल रहे “नई रोशनी” (ई डब्ल्यू एस) का 57वां पाक्षिक कार्यक्रम वरिष्ठ अधिवक्ता के.एन. कुमार, प्रेरणास्रोत एवं संयोजक “नई रोशनी” (ईडब्ल्यूएस) एवं प्रधानाचार्य बांके बिहारी पांडे के मार्गदर्शन में मुख्य अतिथि प्रयागराज के महापौर गणेश केसरवानी एवं अवकाश प्राप्त चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर पी के सिन्हा की अध्यक्षता में संपन्न हुआ l इस अवसर पर समस्त बालिकाओं को उपहार एवं प्रमाण पत्र भी प्रदान किए गए l

    

कार्यक्रम के प्रारंभ में संगीताचार्य मनोज गुप्ता के निर्देशन में बालिकाओं द्वारा गायत्री मंत्र के साथ-साथ भजनों एवं देशभक्ति गीतों तथा गोपाल जी गुप्ता के हनुमान चालीसा के सस्वर गायन से प्रारंभ हुआ l तत्पश्चात विनीता अरोड़ा द्वारा गणेश वंदना प्रस्तुत की गई उसके बाद चित्रकला प्रतियोगिता की कोऑर्डिनेटर बीना भार्गव के द्वारा परिणाम की घोषणा एवं अमिता मेहरोत्रा के द्वारा महाराणा प्रताप के जीवन से संबंधित घटनाओं का वर्णन किया गया l के. एन. कुमार ने आए हुए समस्त अतिथियों का स्वागत किया तत्पश्चात संस्था के अब तक के किए गए प्रयासों का विस्तृत वर्णन करते हुए महापौर से भी इसमें सहायता का आह्वान किया l

इस अवसर पर महापौर गणेश केसरवानी ने बताया कि झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वाली महिलाओं में मानसिक विकार और खराब मानसिक स्वास्थ्य विकसित होने की संभावना अधिक होती है; इसलिए, इन महिलाओं को सहायता प्रदान करना और उनकी आय बढ़ाने के लिए रोजगार के अवसर पैदा करना तथा इसके बाद, उनकी सामाजिक, आर्थिक और जीवन स्थितियों में सुधार करना, इन पर विचार किया जाना चाहिए। मैं संस्था के इस पहल की सराहना करता हूं और इन बालिकाओं को जो भी आवश्यकता होगी उन्हें पूरी करने का आश्वासन प्रदान करता हूं l प्रधानाचार्य बांके बिहारी पांडे ने कहा कि झुग्गी-झोपड़ियों में, जहाँ अधिकांश लोग गरीबी रेखा से नीचे रहते हैं, लड़कियों और महिलाओं की शिक्षा पीछे रह जाती है। गरीबी, अविकसितता, बड़े पैमाने पर निरक्षरता, अज्ञानता, शहरी पिछड़ापन और रूढ़िवादिता के कारण झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वाली अधिकांश लड़कियाँ शिक्षा के अपने मूल अधिकार से वंचित रह जाती है l उन्होंने कहा कि इन बालिकाओं के लिए मैं अपने विद्यालय में निशुल्क शिक्षा की व्यवस्था करूंगा l

विशिष्ट अतिथि डिविजनल ऑफीसर नागरिक सुरक्षा कोर, रौनक गुप्ता एवं अध्यक्षता कर रहे डॉक्टर पी के सिन्हा ने भी बालिकाओं का मार्गदर्शन किया l

इस अवसर पर अनिल कुमार भार्गव, संतोष कुमार, विनीत सिंह, आर के सिंह, ए के दरबारी, इंदर मध्यान, एन के अरोड़ा, निशा जयसवाल, स्तुति कुमार सहित तमाम गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे l कार्यक्रम का कुशल एवं विधिवत संचालन पूर्व जॉइंट कमिश्नर जीएसटी गोपाल जी गुप्ता द्वारा किया गया l

 

Anveshi India Bureau

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments