Wednesday, May 29, 2024
spot_img
HomePrayagrajPrayagraj Accident News: स्टेयरिंग फेल होने से गड्ढे में गिरी स्कूल बस,...

Prayagraj Accident News: स्टेयरिंग फेल होने से गड्ढे में गिरी स्कूल बस, 12 बच्चे घायल, मची चीख-पुकार

झूंसी थाना क्षेत्र के अंदावा स्थित एक पब्लिक स्कूल की बस बृहस्पतिवार सुबह फूलपुर, इफको, बाबूगंज, चिरौड़ा आदि गांवों से बच्चों को लेकर जैसे ही बगई खुर्द गांव के सामने पहुंची थी कि अचानक बस की स्टेयरिंग फेल हो गई। इससे तेज रफ्तार बस सड़क किनारे चार फिट गहरे गड्ढे में चली गई।

बच्चों से भरी स्कूल बस की स्टेयरिंग फेल हो जाने की वजह से अनियंत्रित हुई बस सड़क किनारे गड्ढे में चली गई। इस हादसे में दर्जन भर बच्चे घायल हो गए। चीख-पुकार मची तो आसपास के लोग वहां पहुंच गए और घायल बच्चों को उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया।

झूंसी थाना क्षेत्र के अंदावा स्थित एक पब्लिक स्कूल की बस बृहस्पतिवार सुबह फूलपुर, इफको, बाबूगंज, चिरौडा आदि गांवों से बच्चों को लेकर जैसे ही बगई खुर्द गांव के सामने पहुंची थी कि अचानक बस की स्टेयरिंग फेल हो गई। इससे तेज रफ्तार बस सड़क किनारे चार फिट गहरे गड्ढे में चली गई। अचानक बस में हुए इस हादसे से बैठे बच्चे सहम गए।

घटना में बाबूगंज बाजार निवासी दसवीं कक्षा के छात्र अनुज कुमार यादव, आकाश कुमार, आदर्श कुमार, तथा 11वीं कक्षा की छात्रा साक्षी, मनजीत कुमार गुप्ता, नौवी कक्षा की शैलजा यादव, तथा आठवीं कक्षा की सृष्टि यादव को चोटें आईं हैं। घटना की सूचना पर पहुंचे अभिभावकों ने उन्हें स्थानीय चिकित्सालय में इलाज के लिए भर्ती कराया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद अभिभावक अपने बच्चों को लेकर घर चले गए। वहीं अन्य बच्चों को स्कूल की दूसरी बस द्वारा उनके घरों को पहुंचाया गया।

Prayagraj Accident News: School bus fell into ravine due to steering failure, 12 children injured
खटारा बसों में ढोए जा रहे बच्चे, आक्रोशित हैं अभिभावक 

क्षेत्र के अभिभावकों का आरोप है कि महंगी फीस व वाहन शुल्क के नाम पर विद्यालय प्रबंधन द्वारा लंबी धनराशि अभिभावकों से वसूल तो की जाती है, लेकिन विद्यालय प्रबंधन वाहनों की समय-समय पर फिटनेस की जांच नहीं कराते हैं। जिससे आए दिन इस तरह की घटनाएं के आम हो गई हैं। बाबूगंज बाजार निवासी अजय कुमार गुप्ता ने कहा कि बाबूगंज, फूलपुर, झूंसी क्षेत्र में दर्जनों विद्यालयों में खटारा अप्पे, ई रिक्शा तथा मैजिक वाहनों से बच्चों को मानक के विपरीत बैठाकर उनके जीवन से खिलवाड़ कर रहे हैं। जबकि शासन द्वारा निर्देश है कि समय-समय पर विद्यालयों में संभागीय परिवहन विभाग द्वारा कैंप लगाकर सुरक्षित यातायात व विद्यालय प्रबंधन को ऐसे वाहनों को न चलने के लिए निर्देश देने चाहिए।

Courtsyamarujala.com
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments