Wednesday, May 29, 2024
spot_img
HomePrayagrajराष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय कार्यकारिणी सदस्य राम माधव ने रखे...

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय कार्यकारिणी सदस्य राम माधव ने रखे विचार, शत प्रतिशत मतदान के लिए किया प्रेरित

लोक जागरण मंच प्रयागराज की ओर से मंगलवार को बिशप जॉनसन स्कूल सिविल लाइन्स में प्रबुद्ध नागरिक गोष्ठी आयोजित हुई। गोष्ठी को संबोधित करते हुए मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अखिल भारतीय कार्यकारिणी सदस्य सुप्रसिद्ध लेखक और चिंतक राम माधव ने कहा कि हम भारत के लोग उत्सव प्रिय लोग हैं। हर चीज में उत्सव मनाते हैं। कभी कभी मन में किसी भ्रम की स्थिति आ जाती है। हम चुनाव के समय की गर्मी गर्मी के बीच मतदान नहीं करते। हम राष्ट्र भावना विकास भावना के बीच में मतदान करते हैं। राम माधव ने कहा विपक्ष का स्वभाव होता है विषयों को बोलकर अलग अलग दिशा में घुमा करके मतों को प्राप्त करना लेकिन हम उन सब चीजों से चुनावी गरमा गर्मी से बाहर निकल करके राष्ट्रीय भावना और विकास भावना के साथ मतदान करेंगे। आज भारत विश्व का बड़ा लोकतंत्र ही नहीं सबसे सफल लोकतंत्र है। संविधान सभा के समय शिक्षित आबादी का प्रतिशत केवल 17 प्रतिशत है। सभी को वोट का अधिकार न दिया जाए लेकिन 26 नवंबर 2049 को राजेंद्र बाबू ने कहा कि मैं गांव से आता हूं सुदूर गांव में रहने वाले अति ग्रामीण भी लोकतंत्र को गहरे से समझते हैं इसलिए सबको वोट का अधिकार दीजिए। हमने पिछले 70 वर्षों में उसे सही साबित किया है। अतः मतदान के अपने अधिकार का प्रयोग कर हमे ऐसे राजा को लाना है जो देश को ऊंचाई पर ले जाए। विकास के रास्ते पर ले जाए शिखर पर ले जाए। यह लोकतंत्र और हमारे संविधान की देन है। संविधान इतना विचार करके बनाया गया की इससे अच्छा संविधान किसी के पास नहीं है। साथ में राजनीतिक संस्कृति का अनुभव हुआ जवाब देही पर ही राजनीति चलेगी। यह बहुत बड़ा परिवर्तन है। पहली बार अनुभव में आ रहा है कि विकास में भी हिस्सेदारी युवाओं की भागीदारी बढ़ी है। सभी वर्गों की भागीदारी बढ़ी है। सरकार का प्रयास की आप केवल अधिकार प्राप्त करता ही ना बने भागीदार भी बने। स्टेक होल्डर भी बने और विगत दस वर्षों में इसका प्रमाण मिला है। दस वर्षों में कोई भ्रष्टाचार नहीं सुना। इस नाते से गरीबों को उनका पूरा अधिकार मिल रहा है। आर्थिक स्वच्छता लाई गई। इनकम टैक्स को फेसलेस बनाने से लोगों में भरोसा पैदा हुआ और भरोसा गहरा हुआ। अर्थव्यवस्था मजबूत होने से हमारे रेलवे हाईवे हर जगह इंफ्रास्ट्रक्चर का जाल मजबूत हुआ। काशी का विकास अयोध्या का विकास हर तरफ नई संस्कृति का परिचायक है। वही हमारी सुरक्षा व्यवस्था भी बदली है। विदेशी समझने लगे हैं कि दिल्ली अब पहले जैसे नहीं रही। आज देश का हर व्यक्ति सुरक्षित महसूस कर रहा है। प्रधानमंत्री का पहला भाषण जब लाल किले से उन्होंने दिया कि केवल महिलाओं के प्रति ही हमारी जिम्मेदारी ना रहे हम अपने बच्चों के प्रति जिम्मेदार हो। आज आत्मविश्वास की भावना से हमारा देश विकसित हो रहा है। हमें विदेश में भी सम्मान मिल रहा है। हमारा सभी देशों से संबंध है लेकिन अपनी शर्तों पर अपनी व्यवस्था से हमारा आज हमारा देश नए विश्वास के साथ आगे बढ़ रहा है और विकास के पथ पर चौथे स्थान आ गए हैं। लोकतंत्र के प्रति विश्वास जगाने वाला देश बनेंगे। विपक्ष को जिताने की चिंता सत्ता में लाने की चिंता हम नहीं करेंगे। हमारे जीवन में खुशहाली तभी आएगी विकसित भारत तभी बनेगा जब हम अपने शत शत प्रतिशत मतदान का प्रयोग राष्ट्रीय हितों में विकास के लिए सोच करके मतदान करेंगे। हमारे नागरिक कर्तव्य भी है इसमें वर्तमान राजनीतिक बहस से ऊपर उठकर के राष्ट्रीय हित में योग्यता से प्रयोग करें।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए इलाहाबाद उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति सुनीत कुमार ने कहा कि संविधान में महिला और पुरुष दोनों को मतदान के लिए समान अधिकार प्राप्त है हमें अपने अधिकारों का प्रयोग करते हुए शत प्रतिशत मतदान करना है। कभी यह देश 2047 में विकसित भारत बन पाएगा। आज यह समय की मांग है और यह निर्णायक समय है कि विकसित भारत के लिए हम अपना शत प्रतिशत मतदान सुनिश्चित करें। यही समय है सही समय है। 2050 तक युवाओं की संख्या स्थिर हो जायेगी। अतः उनका सदुपयोग अभी करना है। मंच पर विषय प्रवर्तन उच्च न्यायालय में उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व अपर महाधिवक्ता शिवकुमार पाल ने किया। मंच का संचालन उच्च न्यायालय इलाहाबाद में उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्य स्थाई अधिवक्ता चतुर्थ शीतल कुमार गौड़ शीतल ने किया। इस अवसर पर प्रांत प्रचारक काशी प्रांत रमेश क्षेत्र प्रचारक प्रमुख सुभाष विभाग प्रचारक आदित्य जिला प्रचारक आकाश अपर महाधिवक्ता मनीष गोयल महेश चंद्र चतुर्वेदी अशोक मेहता अजीत सिंह मुख्य स्थाई अधिवक्ता तृतीय मनोज कुमार सिंह आलोक त्रिपाठी विजय शंकर मिश्रा हाइकोर्ट बार के पूर्व अध्यक्ष राकेश पांडेय बबुआ पूर्व महासचिव सत्यधीर सिंह जादौन अधिवक्ता अखिलेश शर्मा श्रेणी प्रमुख डा अवधेश चन्द्र श्रीवास्तव देशदीपक श्रीवास्तव समेत लगभग तीन हजार से अधिक प्रबुद्ध जन उपस्थित रहे।

 

Anveshi India Bureau

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments