Wednesday, May 22, 2024
spot_img
HomeUttar Pradeshयूपी में चुनाव आयोग की सख्ती: प्रदेश में 113 करोड़ की शराब...

यूपी में चुनाव आयोग की सख्ती: प्रदेश में 113 करोड़ की शराब और नकदी जब्त, 3910 शस्त्र लाइसेंस किए गए निरस्त

Election Commission : चुनाव आयोग की सख्ती का असर साफ दिख रहा है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी के अनुसार 1 मार्च से 5 अप्रैल तक 113 करोड़ की शराब और नकदी जब्त की जा चुकी है।

उत्तर प्रदेश में अवैध शराब और नकदी की जब्ती संबंधी आयोग के निर्देशों का कढ़ाई से पालन हो रहा है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी नवदीप रिणवा ने बताया कि आबकारी, आयकर, पुलिस, नार्कोटिक्स विभाग और अन्य प्रवर्तन एजेंसियों ने 1 मार्च से 5 अप्रैल तक कुल 113.26 करोड़ रुपये कीमत की शराब, ड्रग, बहुमूल्य धातुएं, मुफ्त उपहार और नकदी जब्त की।

इसमें 20.87 करोड़ रुपये नकद धनराशि, 28.92 करोड़ रुपये कीमत की 851755.96 लीटर शराब, 44.32 करोड़ रुपये कीमत की ड्रग्स, 17.78 करोड़ रुपये कीमत की बहुमूल्य धातुएं और 1.37 करोड़ रुपये कीमत की अन्य सामग्री जब्त की गई। 5 अप्रैल को हरदोई में 17.33 लाख रुपये मूल्य की 1400 ग्राम ड्रग पकड़ी गई। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि सघन जांच के लिए 513 अंतर्राज्यीय चेक पोस्ट और 1843 चेक पोस्ट राज्य के भीतर संचालित हैं। 16 मार्च से 5 अप्रैल तक पुलिस विभाग ने अपराधिक व्यक्तियों के 478 लाइसेंसी शस्त्र जब्त किए। 3910 लाइसेंसी शस्त्र निरस्त कर जमा कराए गए।

478 लाइसेंसी शस्त्र जब्त, 3910 लाइसेंस निरस्त

प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्री नवदीप रिणवा ने बताया कि प्रदेश में आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद पुलिस, आयकर, आबकारी, नार्कोटिक्स एवं अन्य विभागों द्वारा लगातार कार्यवाही की जा रही है। 16 मार्च से अबतक अपराधिक व्यक्तियों के 478 लाइसेंसी शस्त्र जब्त किए गए और 3910 लाइसेंसी शस्त्र निरस्त कर जमा कराए गए।

उन्होंने बताया कि 18,83,558 लोगों को पाबन्द करने के नोटिस भेजे गए हैं। इसमें से 11,59,360 लोगों को पाबन्द किया जा चुका है। पुलिस द्वारा 4206 बिना लाइसेंस के अवैध शस्त्र, 4467 कारतूस, 2066.5 किलोग्राम विस्फोटक व 227 बम बरामद कर सीज किए जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि सघन जांच के लिए 513 अंतर्राज्यीय चेक पोस्ट और 1843 चेक पोस्ट राज्य के भीतर संचालित हैं।

 

Courtsyamarujala.com

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments