Wednesday, May 29, 2024
spot_img
HomeBlogमहर्षि भरद्वाज प्रतिमा स्थल राम आगमन पर्व धूमधाम से मनाया

महर्षि भरद्वाज प्रतिमा स्थल राम आगमन पर्व धूमधाम से मनाया

प्रयागराज में राम आएं हैं कि स्मृति में प्रभु राम आगमन पर्व के चैत्र शुक्ल द्वादशी 20 अप्रैल को गुरु ऋषि महर्षि भरद्वाज के आश्रम में पधारे थे कि खुशी में प्रयागराज विद्वत परिषद के तत्वाधान में महर्षि प्रतिमा स्थल पर भजन संध्या,101 दीपक प्रज्वलित कर, पुष्पांजलि अर्पित तथा आरती के साथ धूमधाम से मनाया।

डॉ. पीयूष मिश्रा ने कहा प्रयागराज के लिए उत्सव का दिन है।पूरा प्रयागराज के विद्वत समाज राममय होकर पुष्पांजलि कर रहा है।रामनरेश पिंडीवासा ने कहा आज ही सांध्य समय पर प्रभु राम के पवित्र चरण ऋग्वेद के षष्टम मंडल के रचयिता,विश्व के प्रथम  कुलपति के श्री चरणों में मार्गदर्शन हेतु पड़ा था।धन्यवाद ज्ञापित करते हुए पूर्व कुलपति प्रो. केबी पांडेय ने कहा महर्षि भरद्वाज ऋषि,वैज्ञानिक एवं कुलपति थे जो मानव जगत के जीवन पद्धति का मार्गदर्शन दिया। प्रयागराज युवाओं के पथ प्रदर्शक का केंद्र रहा हैं।

इससे पहले कार्यक्रम समन्वयक वीरेंद्र पाठक ने कहा राजकुमार राम वनवास प्राप्त करने के बाद अयोध्या से चले और चार दिन पश्चात वह द्वादशी तिथि को पवित्र गंगा जमुना के संगम तट पर स्थित महर्षि भरद्वाज के आश्रम में पहुंचे थे।नक्षत्र की गणना और शोध के उपरांत यह स्पष्ट होता है कि भगवान राम का पुष्य नक्षत्र में राज्याभिषेक होना था किंतु कैकेयी के वर मांगने के पश्चात पिता की आज्ञा से राजकुमार राम अपनी पत्नी सीता भाई लक्ष्मण के साथ वनवास को दूसरे दिन सुबह निकल पड़ते हैं। राजकुमार राम सुमंत के साथ तमस नदी के किनारे पहुंचते हैं और विश्राम करते हैं। बाल्मीकि रामायण के अयोध्या कांड से यह स्पष्ट है कि सूर्योदय पर वह फिर वनवास की ओर प्रस्थान करते हैं और राज्य की सीमा श्रृगंवेरपुर पहुंचते हैं। निषाद राज गुह का आदित्य स्वीकार करने के पश्चात दूसरे दिन सूर्योदय के समय  गंगा नदी को पार कर प्रयाग वन में पहुंचते हैं।उन्ही के आगमन पर प्रयागराज विद्वत परिषद जनजागरण का संकल्प लेकर शुरुआत किया हैं।सुप्रसिद्ध गायक संदीप द्विवेदी ने गुरु की कृपा से सब काम हो रहा हैं, सारे तीर्थंधाम आपके चरणों में गुरु देव आपको प्रणाम है पवनसुत विनती बारम्बार, रामजी करेंगे बेड़ा पार और गायिका रेखा ने मेरे झोपड़ी के भाग्य आज खुल जाएंगे राम आएंगे से संगीत मय में प्रफुल्लित हो उठा।

 

Anveshi India Bureau

राम आगमन पर्व पर प्रमुख रूप से न्यायमूर्ति वीपी पाठक, पूर्व कुलपति प्रो.के बी पांडेय, आशुतोष संड,डॉ अखिलेश मिश्रा,अभिषेक मिश्रा, जगत नारायण तिवारी, वर्णनिका शुक्ला, शशिकांत मिश्रा, विक्रम मालवीय, तपन चटर्जी, अशोक पाठक, अरुण शुक्ला, राहुल दुबे, आशुतोष शुक्ला, डॉ रंजन बाजपेई, सुधीर द्विवेदी,दिनेश तिवारी आदि उपस्थित रहें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments