Wednesday, May 29, 2024
spot_img
HomePrayagrajमर गईं संवेदनाएं: थाने में मेमो नहीं पहुंचा... इसलिए नौ घंटे ट्रैक...

मर गईं संवेदनाएं: थाने में मेमो नहीं पहुंचा… इसलिए नौ घंटे ट्रैक के पास पड़ी रही युवक की लाश

प्रयागराज से झकझोर देने वाली खबर सामने आई है। औद्योगिक क्षेत्र में एक युवक का शव रेलवे ट्रैक पर करीब नौ घंटे तक पड़ा रहा, पुलिस को रेल विभाग से मेमो नहीं मिला था, जबकि वहां से गुजरने वाली हर ट्रेन के चालक घटना की सूचना रेलवे कंट्रोल रूम को देते रहे।

प्रयागराज के नैनी से शर्मनाक खबर सामने आई है। यहां कागजी कार्यवाही मानवीय संवेदना पर भारी दिखाई दीं। औद्योगिक क्षेत्र में एक युवक का शव रेलवे ट्रैक पर करीब नौ घंटे तक इसलिए पड़ा रहा क्योंकि पुलिस को रेल विभाग से मेमो नहीं मिला था, जबकि वहां से गुजरने वाली हर ट्रेन के चालक घटना की सूचना रेलवे कंट्रोल रूम को देते रहे।

आरपीएफ और पुलिस को भी घटना की जानकारी हो गई थी। छिवकी स्टेशन से आधा किमी दूर दुबराजपुर रेलवे क्रॉसिंग के पास शनिवार सुबह करीब पांच बजे पहली सूचना वहां से गुजरने वाली ट्रेन के चालक ने कंट्रोल रूम को दी।

स्टेशन अधीक्षक छिवकी ने संबंधित एजेंसियों को सूचना देने के साथ थाने का मेमो पटरियों के रखरखाव से जुड़े इंजीनियरिंग कार्यालय में जाकर दिया। वहां के कर्मचारियों से इसे संबंधित थाने पहुंचाने की बात कही। इंजीनियरिंग विभाग के कर्मचारियों ने यह कहकर मना कर दिया कि मेमो भेजना उनका काम नहीं है।

इसे अपने पोर्टर के माध्यम से थाने भिजवाइए। इसके बाद स्टेशन अधीक्षक ने मेमो अपने कार्यालय में रख लिया, जो कई घंटे टेबल पर ही पड़ रहा। इस बीच कई बार शव मिलने की सूचना कंट्रोल में पहुंची तो उच्च अधिकारियों ने कर्मचारियों से जानकारी मांगी।

दोपहर में पीडब्लूआई और आरपीएफ मौके पर पहुंची। प्रधान आरक्षी शशिकांत, कांस्टेबल संतोष यादव ने सीवाईएम ऑफिस (स्विच यार्ड मास्टर ऑफिस) जाकर स्टेशन अधीक्षक से दुर्घटना से संबंधित पुलिस की प्रति वाला मेमो रिसीव किया। दोपहर तीन बजे मेमो औद्योगिक थाना क्षेत्र में रिसीव कराया गया। इसके बाद निरीक्षक हरिओम ने शव को पोस्टमार्टम हाउस पहुंचाया।

मामले में स्टेशन अधीक्षक छिवकी राकेश राय ने बताया कि सूचना मिलने पर तत्काल संबंधित थाने में जानकारी दे दी गई थी। जानकारी देना जरूरी है, मेमो देना नहीं। आरपीएफ इंस्पेक्टर छिवकी आरएस कजूर ने बताया कि मेमो रिसीव नहीं होने से शव ट्रैक पर पड़ा रहा।

बाद में आरपीएफ और पीडब्लूआई स्टॉफ ने मेमो रिसीव कर थाने पर पहुंचाया। शव की सुरक्षा के लिए वहां पर आरपीएफ के जवान को लगाया गया था। थाना प्रभारी औद्योगिक क्षेत्र महेश मिश्रा ने बताया कि दोपहर लगभग तीन बजे स्टेशन मास्टर का मेमो प्राप्त हुआ। इसके बाद आगे की कार्रवाई की गई। शव की पहचान नहीं हो सकी है।
Courtsyamarujala.com
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments