Wednesday, May 29, 2024
spot_img
HomePrayagrajमतदाता जागरूकता कार्यक्रमों के माध्यम से लोगों को मतदान करने हेतु प्रेरित...

मतदाता जागरूकता कार्यक्रमों के माध्यम से लोगों को मतदान करने हेतु प्रेरित किया जा रहा

उत्तर प्रदेश में कम मतदान प्रतिशत वाले जनपदों में मतदाता जागरूकता कार्यक्रमों के माध्यम से अधिक से अधिक लोगों को मतदान करने हेतु प्रेरित किया जा रहा है। साथ ही सम्बन्धित जनपदों के जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ बैठक कर आवश्यक दिशा-निर्देश भी निर्गत किये गये है। मतदान प्रतिशत बढ़ाने हेतु प्रदेश स्तर पर विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ निरन्तर बैठक कर उनका मतदाता जागरूकता में सहयोग लिया जा रहा है। उक्त बातें प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी नवदीप रिणवा ने शुक्रवार को नई दिल्ली में भारत निर्वाचन आयोग के मतदान प्रतिशत बढ़ाये जाने के सम्बन्ध में मतदान में कम सहभागिता विषय पर आयोजित सम्मेलन में कहीं।

उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों तथा कोटेदारों (उचित दर की दुकानों के विक्रेता) के माध्यम से लोगों को मतदान हेतु जागरूक किया जा रहा है। इसके साथ ही गैस सिलेण्डर तथा बिजली के बिलों में मतदाता स्लोगन के माध्यम से भी मतदाता जागरूकता अभियान संचालित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिला निर्वाचन अधिकारियों द्वारा बी0एल0ओ0 द्वारा बांटी जा रही मतदाता पर्ची तथा वोटर गाइड की नियमित रुप से माॅनीटरिंग की जा रही है, जिससे प्रत्येक मतदाता के पास मतदाता पर्ची तथा वोटर गाइड समय से पहुंच जाए। उन्होंने कहा कि मतदाताओं के पास समय से मतदाता पर्ची पहुंचने से उन्हें मतदान करने से सम्बन्धित सभी जानकारियां प्राप्त हो जाती है।

सम्मेलन में भारत निर्वाचन आयोग के समक्ष लखनऊ के नगर निगम आयुक्त, इन्द्रजीत सिंह तथा कानपुर के नगर निगम आयुक्त शिव शरण अप्पा ने पी0पी0टी0 के माध्यम से मतदाता प्रतिशत बढ़ाने की रणनीति बतायी।

भारत निर्वाचन आयोग के मुख्य निर्वाचन आयुक्त राजीव कुमार, निर्वाचन आयुक्त ज्ञानेश कुमार तथा निर्वाचन आयुक्त सुखबीर सिंह संधु सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा सम्मेलन में मतदान प्रतिशत बढ़ाये जाने के विषय पर चर्चा की गयी। उनके द्वारा अपेक्षा की गयी कि उ0प्र0 राज्य सबसे अधिक मतदाता वाला राज्य है। इस राज्य में मतदान प्रतिशत बढ़ने से देश का मतदान प्रतिशत बढ़ेगा। इसलिए मतदाता जागरूकता कार्यक्रमों के माध्यम से उत्तर प्रदेश में मतदान प्रतिशत, औसत राष्ट्रीय मतदान प्रतिशत 67.40 के बराबर लाने का प्रयास किया जाये। भारत निर्वाचन आयोग के द्वारा अपेक्षा की गयी है कि मतदान के दिन निजी वाहनों की पार्किंग की उचित व्यवस्था की जाये। धूप से बचने के लिए शेड की व्यवस्था, लम्बी लाइनों के बीच में मतदाताओं को बैठने की सुविधा के लिए कुर्सी रखी जाये तथा शुद्ध पेयजल की व्यवस्था की जाये। मतदाताओं को लोकतंत्र का उत्सव के रुप में मतदान करने हेतु प्रोत्साहित किया जाये। सम्मेलन में जनपद प्रयागराज, भदोही, श्रावस्ती, गोण्डा एवं सिद्धार्थनगर के जिला निर्वाचन अधिकारी वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से जुड़े रहे।

 

Anveshi India Bureau

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments