Wednesday, May 29, 2024
spot_img
HomePrayagrajPrayagraj Airport : एक भी इंटरनेशनल उड़ान नहीं, फिर भी 25 लाख...

Prayagraj Airport : एक भी इंटरनेशनल उड़ान नहीं, फिर भी 25 लाख यात्रियों की आवाजाही

अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा नहीं होने के बावजूद प्रयागराज एयरपोर्ट प्रदेश का तीसरा सबसे बड़ा एयरपोर्ट बन गया है जहां पर यात्रियों की आवाजाही लाख के पार पहुंच गई है। यहां से एक भी अंतरराष्ट्रीय उड़ान नहीं है। यह उपलब्धि नए वित्तीय वर्ष के प्रथम सप्ताह में ही हासिल हो गई है।

प्रयागराज एयरपोर्ट अब प्रदेश का तीसरा ऐसा एयरपोर्ट हो गया है जहां यात्रियों की आवाजाही ने 25 लाख का आंकड़ा पार कर लिया है। इसके खाते में यह उपलब्धि वर्तमान वित्तीय वर्ष के पहले सप्ताह में ही आ गई है। खास बात यह है कि यहां से अब तक एक भी इंटरनेशनल फ्लाइट न होने के बावजूद प्रयागराज एयरपोर्ट की ओर से हासिल यह आकंडा बड़ी उपलब्धि माना जा रहा है।

प्रदेश में लखनऊ और वाराणसी ही ऐसे एयरपोर्ट हैं, जो विमान एवं यात्रियों की संख्या में प्रयागराज से आगे हैं, लेकिन यह दोनों इंटरनेशनल एयरपोर्ट हैं। इस लिहाज से प्रयागराज एयरपोर्ट सिर्फ घरेलू यात्रियों की उड़ान एवं आवाजाही के मामले में प्रदेश में नंबर एक पर है।

बीते वर्ष जून में ही प्रयागराज एयरपोर्ट ने 20 लाख का आंकड़ा छुआ था। महज नौ माह में यहां यात्रियों के आवागमन की संख्या 25 लाख के आंकड़े को पार कर गई। बता दें कि वर्ष 2019 में लगे कुंभ मेले के पूर्व ही पीएम मोदी ने 16 दिसंबर 2018 को प्रयागराज एयरपोर्ट का उद्घाटन किया था। हालांकि यहां विमानों का आवागमन एक जनवरी 2019 से शुरू हुआ।

महज 63 माह के सफर में यहां यात्रियों की आवाजाही का आंकड़ा 25 लाख को पार कर गया है। 31 मार्च 2024 तक 31425 विमानों का आवागमन हुआ। यात्रियों और विमानों की आवागमन संख्या में प्रयागराज सूबे का तीसरा बड़ा एयरपोर्ट है। मार्च 24 की बात करें तो एयरपोर्ट में 522 विमानों की आवाजाही हुई।

प्रयागराज का फिलहाल देश के आठ शहरों से सीधा हवाई संपर्क

बीते वित्तीय वर्ष में रायपुर, इंदौर, पुणे, गोरखपुर, कोलकाता उड़ान बंद होने की वजह से वर्तमान समय में प्रयागराज एयरपोर्ट का आठ शहरों से ही सीधा हवाई संपर्क है। यहां से वर्तमान में इंडिगो द्वारा मुंबई, दिल्ली, बंगलुरू, भुवनेश्वर, भोपाल, लखनऊ, देहरादून जबकि एलाइंस एयर से बिलासपुर एवं दिल्ली उड़ान ही संचालित की जा रही है। अगले माह अकासा एयर की भी प्रयागराज में इंट्री होने जा रही है। अकासा की ओर से एक मई से बंगलुरू और दिल्ली एवं 20 मई से मुंबई की उड़ान शुरू की जाएगी।

इस वर्ष के पहले तीन माह में 1.36 लाख ने भरी उड़ान

सर्दी के मौसम में खासतौर से जनवरी में 100 से ज्यादा विमान निरस्त होने के बावजूद इस वर्ष के शुरुआती तीन माह में यहां से 1.36 लाख यात्रियों ने हवाई सफर किया। इस अवधि में यहां 1408 विमानों का आवागमन भी हुआ। कार्यवाहक निदेशक राजेश कुमार ने बताया कि एयरपोर्ट के विस्तारीकरण के बाद यहां यात्री क्षमता बढ़ जाएगी। ऐसे में नई हवाई सेवा शुरू होने से संख्या और तेजी से बढ़ेगी।

हवाई चप्पल पहनने वाला व्यक्ति भी हवाई सफर कर रहा है। प्रयागराज एयरपोर्ट के शुरू होने के बाद अब तक 25 लाख से ज्यादा यात्रियों की आवाजाही होना बड़ी उपलब्धि है। एयरपोर्ट का विस्तार हो रहा है। महाकुंभ तक यहां से कई और शहरों के लिए सीधी फ्लाइट शुरू हो जाएगी। – केशव प्रसाद मौर्य, डिप्टी सीएम, उ.प्र. सरकार

 

Courtsyamarujala.com

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments