Wednesday, May 22, 2024
spot_img
HomePrayagrajRailway : देशभर में 3.61 करोड़ बेटिकट यात्रियों से वसूले 2231 करोड़...

Railway : देशभर में 3.61 करोड़ बेटिकट यात्रियों से वसूले 2231 करोड़ रुपये, मध्य रेलवे ने की सर्वाधिक कमाई

वित्तीय वर्ष 2023-24 में रेलवे बोर्ड ने सभी जोनल रेलवे से बेटिकट यात्रियों के खिलाफ विशेष अभियान चलाने का निर्देश दिया था। इस दौरान 16 जोनल रेलवे ने अपने सभी मंडलों में अभियान चलाया। इस अवधि में सर्वाधिक 300 करोड़ से ज्यादा का जुर्माना मध्य रेलवे मुंबई ने वसूला।

जहां एक ओर वंदे भारत जैसी लग्जरी ट्रेनों का संचालन कर रेलवे यात्रियों के सफर को सुगम बना रहा है तो वहीं अब भी लाखों लोग ऐसे हैं, जो ट्रेनों में बेटिकट सफर ही कर रहे हैं। भारतीय रेलवे के आंकड़ों पर गौर करें तो वित्तीय वर्ष 2023-24 में उत्तर मध्य रेलवे जोन समेत देशभर के सभी जोनल रेलवे में चले अभियान के दौरान इस तरह के 3.61 करोड़ यात्री बिना टिकट सफर करने के आरोप में पकड़े गए। इस दौरान बेटिकट यात्रियों से 2231 करोड़ से अधिक का जुर्माना वसूला गया।

वित्तीय वर्ष 2023-24 में रेलवे बोर्ड ने सभी जोनल रेलवे से बेटिकट यात्रियों के खिलाफ विशेष अभियान चलाने का निर्देश दिया था। इस दौरान 16 जोनल रेलवे ने अपने सभी मंडलों में अभियान चलाया। इस अवधि में सर्वाधिक 300 करोड़ से ज्यादा का जुर्माना मध्य रेलवे मुंबई ने वसूला। मध्य रेलवे ने कुल 46.26 लाख बेटिकट यात्रियों को पकड़ा। वहीं, नंबर दो पर उत्तर रेलवे दिल्ली रहा। उत्तर रेलवे ने पिछले वित्तीय वर्ष में 250 करोड़ रुपये से ज्यादा का जुर्माना बेटिकट एवं अनियमित टिकट लेकर यात्रा करने वाले यात्रियों से वसूला।

यहां बेटिकट यात्रियों की संख्या 38.85 लाख रही। वहीं, देश में तीसरे स्थान पर पूर्व मध्य रेलवे हाजीपुर रहा। यहां 39.84 लाख बेटिकट यात्रियों से 238.12 करोड़ का जुर्माना वसूले जाने की कार्रवाई की गई। इस मामले में उत्तर मध्य रेलवे (एनसीआर) प्रयागराज देश में छठे स्थान पर रहा। एनसीआर ने इस अवधि में 21.85 लाख बेटिकट यात्रियों को पकड़ कर उनसे 139.19 करोड़ रुपये का जुर्माना वसूला गया।

वित्तीय वर्ष 2022-23 में 2260 करोड़ का वसूला गया था जुर्माना

रेलवे ने वित्तीय वर्ष 23-24 के मुकाबले 22-23 में ज्यादा जुर्माना वसूला है। पिछले वित्तीय वर्ष में जहां 2231 करोड़ रुपये का जुर्माना वसूला गया तो वहीं उसके पहले 22-23 में यह राशि 2260 करोड़ रुपये रही। वहीं, दूसरी ओर प्रयागराज मंडल की बात करें तो यहां रेलवे द्वारा चलाए गए तमाम अभियान में 12.32 लाख यात्रियों से 82 करोड़ रुपये की राशि जुर्माने के रूप में वसूली गई।
टॉप टेन जोनल रेलवे वार टिकट चेकिंग के आंकड़े एवं आय

जोन का नाम : पकड़े गए यात्री : जुर्माने की राशि

मध्य रेलवे, मुंबई : 46.26 लाख : 300.06 करोड़

उत्तर रेलवे ,दिल्ली : 38.85 लाख : 250.03 करोड़

पूर्व मध्य रेलवे, हाजीपुर : 39.84 लाख : 238. 12 करोड़

दक्षिण मध्य रेलवे, सिकंदराबाद : 34.69 लाख : 220.81 करोड़

पश्चिम रेलवे, मुंबई : 27.66 लाख : 173.89 करोड़

उत्तर मध्य रेलवे, प्रयागराज : 21.85 लाख : 139.19 करोड़

पश्चिम मध्य रेलवे, जबलपुर : 19.52 लाख : 130.50 करोड़

पूर्वोत्तर रेलवे, गोरखपुर : 18.58 लाख : 130.09 करोड़

दक्षिण रेलवे, चेन्नई : 21.34 लाख : 121.39 करोड़

दक्षिण पूर्व रेलवे, कोलकात्ता : 18.05 लाख : 116.89 करोड़
बिना टिकट सफर करना दंडनीय अपराध है। इसलिए यात्रियों को चाहिए कि वह उचित टिकट लेकर ही यात्रा करें। – हिमांशु शेखर उपाध्याय, सीपीआरओ, एनसीआर

 

Courtsyamarujala.com

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments