Tuesday, June 25, 2024
spot_img
HomePrayagrajरणनीति: तीन माह में PM की नौ सभाएं और रोड शो, पूर्वांचल...

रणनीति: तीन माह में PM की नौ सभाएं और रोड शो, पूर्वांचल की माफिया पॉलिटिक्स पर निशाना; 70 बार इस शब्द का जिक्र

तीन महीने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नौ सभाएं और रोड शो हुए। इस दौरान पीएम मोदी ने पूर्वांचल की माफिया पॉलिटिक्स पर निशाना साधा। प्रधानमंत्री ने मुख्तार अंसारी, अतीक अहमद या फिर विजय मिश्र का नाम तो सीधे नहीं लिया, लेकिन सपा और कांग्रेस पर उसे संरक्षण देने के गंभीर आरोप लगाए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन महीने में नौ जनसभा, सम्मेलन और रोड शो के जरिये पूर्वांचल का राजनीतिक, सामाजिक और जातीय समीकरण साधा है। माफिया पॉलिटिक्स पर ताबड़तोड़ वार किया। सातवें चरण के चुनाव प्रचार में हमले और तेज किए।

प्रधानमंत्री ने मुख्तार अंसारी, अतीक अहमद या फिर विजय मिश्र का नाम तो सीधे नहीं लिया, लेकिन सपा और कांग्रेस पर उसे संरक्षण देने के गंभीर आरोप लगाए। यह भी कहा कि सपा के शहजादे यानी अखिलेश यादव माफिया के चरणों में जाकर बैठ गए।

गाजीपुर, आजमगढ़, जौनपुर, मऊ, भदोही और मिर्जापुर की जनसभा में पीएम मोदी ने 70 बार माफियाराज का जिक्र किया और उन्हें संरक्षण देने वाले लोगों को घेरा। साथ ही कहा कि योगी सरकार ने माफियाराज का खात्मा कर दिया। अब यूपी में जंगलराज नहीं है। कानून का राज स्थापित है।

लोकसभा चुनाव घोषित होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहली जनसभा 22 फरवरी को वाराणसी के करखियांव में की थी। इसमें विकास कार्य गिनाए और जनता से समर्थन मांगा। मार्च-अप्रैल तक पहले, दूसरे, तीसरे, चौथे और पांचवें चरण का चुनाव प्रचार चला।

जैसे ही छठवें और सातवें चरण के चुनाव शुरू हुए, वैसे ही पीएम नरेंद्र मोदी ने सारा ध्यान पूर्वांचल के राजनीतिक, सामाजिक और जातीय समीकरण को साधने पर लगा दिया। हर जनसभा में माफिया के आतंक और उससे निजात दिलाने का जिक्र किया। यूपी की अच्छी कानून व्यवस्था का हवाला दिया और बहन-बेटियों से भी समर्थन मांगा।
योगी की 29 जनसभाएं, हर जनसभा में बोले- माफिया को मिट्टी में मिला दिया
बाबा बुलडोजर के नाम से मशहूर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की भी पूर्वांचल में ताबड़तोड़ जनसभाएं हुई हैं। योगी की आजमगढ़, जौनपुर, गाजीपुर, बलिया, सलेमपुर, चंदौली, वाराणसी, सोनभद्र और मिर्जापुर में करीब 20 जनसभाएं हुई हैं। उन्होंने अपनी हर जनसभा में माफिया को मिट्टी में मिलाने का जिक्र किया। यह भी कहा कि कानून व्यवस्था से खिलवाड़ करने की इजाजत किसी को नहीं दी जाएगी। जो हिमाकत करेगा, उसे जेल जाना पड़ेगा।
पूर्वांचल में शाह की पांच जनसभाएं, हर में बेहतर कानून व्यवस्था का जिक्र
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी पूर्वांचल का जातीय, सामाजिक समीकरण साधा है। अमित शाह की अब तक करीब पांच जनसभाएं पूर्वांचल में हो चुकी हैं। बुधवार को ही गाजीपुर, बलिया और सोनभद्र में चुनाव प्रचार किया है। गाजीपुर में भी निशाने पर माफिया ही रहा है। उन्होंने योगी सरकार की तारीफ की और कहा कि अब माफिया राज नहीं है। किसी ने माफिया बनने का प्रयास किया तो योगी जी उल्टा ही सड़कों पर टांग देंगे। जेपी नड्डा ने भी चुनाव प्रचार किया है।
पहले माफिया लड़ते-लड़ाते और जीतते थे चुनाव
2014 से पहले तक पूर्वांचल में माफिया और बाहुबली चुनाव लड़ते-लड़ाते और जीतते थे। बाद में चलन बदल गया। मुख्तार अंसारी लगातार विधायक रहा। बाहुबली हरिशंकर तिवारी, बृजेश सिंह, धनंजय सिंह का दबदबा रहता था। रमाकांत यादव और उमाकांत यादव लंबे समय तक जनप्रतिनिधि रहे। अब जेल में हैं।

16 मई 2024

  • पीएम मोदी ने आजमगढ़ के लालगंज लोकसभा क्षेत्र के निजामाबाद गंधुवई में जनसभा की थी। कहा था कि सपा के शहजादे आतंकियों का सम्मान करते और दंगाइयों को छोड़ते थे।
  • जौनपुर के टीडी कॉलेज मैदान में पीएम मोदी ने जनसभा की। कहा था कि अब यूपी से माफियाराज खत्म हो गया।
  • भदोही में भी जनसभा की। यहां से भी बाहुबली और माफिया को घेरा और कहा कि सपा सरकार में वन डिस्ट्रिक्ट वन माफिया का कांसेप्ट था। भाजपा सरकार में वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट का चलन है।

25 मई 2024

  • पीएम नरेंद्र मोदी ने माफिया और माफियाराज पर सबसे तीखा हमला गाजीपुर में ही बोला था। यह मुख्तार अंसारी का गृह जनपद है। मुख्तार के बड़े भाई अफजाल अंसारी सपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा था कि सपा के शहजादे माफिया के चरणों में बैठ गए। तय करना है सम्मान चाहिए या माफिया की धौंस।

26 मई 2024

  • मऊ में पीएम मोदी की जनसभा। मऊ से ही मुख्तार अंसारी लंबे समय तक विधायक रहा। लोकसभा चुनाव भी लड़ा था। यहां से पीएम ने माफिया पर तीखा वार किया था। कहा था कि जो लोग बंदूक लेकर घूमते और चुनाव लड़ते, लड़ाते थे, उनका अंत हो चुका है।
  • मिर्जापुर की जनसभा के जरिये पीएम मोदी ने माफिया को संरक्षण देने वाले राजनेताओं को घेरा और कहा कि भाजपा सरकार में अब किसी की गुंडागर्दी नहीं चलेगी।

 .वाराणसी में 22 फरवरी को पीएम नरेंद्र मोदी की पहली जनसभा हुई थी। 13 मई को रोड शो किया। 18 मई को संपूर्णानंद संस्कृत विवि में नारी वंदन सम्मेलन को संबोधित किया था। इसमें भी यूपी की बेहतर कानून व्यवस्था और माफिया के घुटने टेकने का जिक्र किया था।

  • चंदौली लोकसभा के अजगरा और शिवपुर विधानसभा क्षेत्र में भी पीएम की जनसभा हुई थी। इसमें कानून व्यवस्था से खिलवाड़ करने वालों के हश्र का जिक्र किया था।

 

Courtsyamarujala.com

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments