Wednesday, May 29, 2024
spot_img
HomePrayagrajUPPSC : आरओ-एआरओ परीक्षा निरस्त होने के बाद भी विवाद बरकरार, आयोग...

UPPSC : आरओ-एआरओ परीक्षा निरस्त होने के बाद भी विवाद बरकरार, आयोग ने नहीं जारी किया नोटिफिकेशन

UPPSC News : उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की समीक्षा अधिकारी और सहायक समीक्षा अधिकारी आरओ-एआरओ परीक्षा निरस्त तो कर दी गई, लेकिन उसका नोटिफिकेशन नहीं जारी किया गया है। यह पहली बार हुआ है जब आयोग की किसी परीक्षा को सीधे शासन से निरस्त किया गया है।

पेपर लीक मामले में समीक्षा अधिकारी (आरओ)/सहायक समीक्षा अधिकारी (एआरओ) प्रारंभिक परीक्षा-2023 निरस्त किए जाने के बावजूद विवाद बना हुआ है। शासन ने तो परीक्षा निरस्त करने का आदेश जारी कर दिया, लेकिन उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) ने अब तक इस बाबत कोई नोटिफिकेशन जारी नहीं किया है।

आरओ/एआरओ प्रारंभिक परीक्षा 11 फरवरी को आयोजित की गई थी, जिसमें दोनों पालियों के पेपर परीक्षा से पहले व्हाट्सएप पर वायरल हो गए थे। इस परीक्षा के लिए 10 लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने आवेदन किए थे और आयोग के इतिहास में पहली बार इतनी बड़ी संख्या में अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए थे। पेपर वायरल होने के बाद आयोग ने तीन सदस्यीय जांच कमेटी गठित कर दी थी।

वहीं, अभ्यर्थियों ने परीक्षा निरस्त किए जाने की मांग को लेकर आंदोलन शुरू कर दिया था। अभ्यर्थियों का दबाव इतना बढ़ गया कि शासन ने अपने स्तर से भी जांच शुरू करा दी और आयोग की जांच पूरी होने से पहले शासन ने परीक्षा निरस्त करने का आदेश जारी कर दिया। शासन की ओर से जारी आदेश में यह भी कहा गया कि पुनर्परीक्षा छह माह के भीतर करा दी जाएगी।

पहली बार शासन ने निरस्त की है आयोग की परीक्षा

आयोग की ओर से आरओ/एआरओ प्रारंभिक परीक्षा को लेकर कोई नोटिफिकेशन जारी नहीं किया गया। ऐसा पहली बार हुआ कि जब सीधे शासन ने आयोग की परीक्षा निरस्त की और आयोग ने कोई नोटिफिकेशन भी जारी नहीं किया। आरओ/एआरओ पेपर लीक की घटना के बाद आयोग ने 17 मार्च काे प्रस्तावित पीसीएस प्रारंभिक परीक्षा-2024 स्थगित कर दी और जुलाई में इसे संभावित बताया।

इसके बाद भी आयोग ने कैलेंडर में प्रस्तावित कई परीक्षाएं स्थगित कीं और उनका नोटिफिकेशन भी जारी किया। अभ्यर्थियों ने सवाल उठाए हैं कि आरओ/एआरओ प्रारंभिक परीक्षा निरस्त किए जाने के मामले में आयोग ने अब तक कोई नोटिफिकेशन जारी क्यों नहीं किया? क्या आयोग यह मानकर चल रहा है कि आरओ/एआरओ परीक्षा में पेपर लीक नहीं हुआ?

इन सवालों में उलझे अभ्यर्थी चाहते हैं कि आयोग भी आरओ/एआरओ परीक्षा निरस्त करने का नोटिफिकेशन जारी करे और यह स्पष्ट करे कि पुनर्परीक्षा कब कराई जाएगी। प्रतियोगी छात्र संघर्ष समिति के मीडिया प्रभारी प्रशांत पांडेय का कहना है कि आयोग की ओर से कोई नोटिफिकेशन जारी न होने के कारण परीक्षा को लेकर अभ्यर्थियों में अब भी असमंजस की स्थिति है। आयोग को अपना पक्ष भी स्पष्ट करना चाहिए।

Courtsyamarujala.com
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments